खेल
Trending

Sunil Narine Retirement : World Cup 2023 के बीच धाकड़ ऑलराउंडर ने किया संन्यास का ऐलान, इस वजह से अचानक लिया बड़ा फैसला

वेस्टइंडीज के धाकड़ ऑलराउंडर सुनील नरेन ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है

विज्ञापन
WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

(Sunil Narine Retirement) विश्वकप प्रतियोगिता में भारतीय टीम की अजेय बढ़त लगातार बरकरार है। भारतीय टीम ने अब तक 8 मुकाबले खेलें हैं, जिसमें सभी में जीत दर्ज की है। पाइंट टेबल में टीम इंडिया पहले पायदान पर है। लेकिन इस बीच खेल के मैदान में से एक ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर क्रिकेट प्रेमियों को झटका लग सकता है। दरअसल वेस्टइंडीज के धाकड़ ऑलराउंडर सुनील नरेन ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। वे पिछले कई सालों से इंटरनेशनल क्रिकेट में एक्टिव नहीं थे, क्योंकि वेस्टइंडीज के लिए उनको आखिरी बार मौका 2019 में मिला था l

विज्ञापन

लीग क्रिकेट में एक्टिव सुनील नरेन ने अपने आठ साल के अंतरराष्ट्रीय करियर को अलविदा कह दिया है। उन्होंने आखिरी बार वेस्टइंडीज के लिए अगस्त 2019 में टी20 इंटरनेशनल मैच खेला था। नरेन ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में अपना रिटायरमेंट पत्र लिखते हुए कैप्शन में लिखा, “मेरे सभी प्रशंसकों, साथियों और प्रियजनों के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से मेरे रिटायरमेंट के संबंध में एक पत्र। मैं आपका सदैव आभारी हूं।”

सुनील ने अपने पत्र में लिखा, “मैं इस बात की सराहना करता हूं कि आखिरी बार वेस्टइंडीज के लिए खेले चार साल से ज्यादा हो गए हैं, लेकिन आज मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर रहा हूं। सार्वजनिक रूप से मैं कम बोलने वाला व्यक्ति हूं, लेकिन निजी तौर पर कुछ ऐसे लोग हैं जिन्होंने मेरे पूरे करियर में मुझे अटूट समर्थन दिया है और वेस्टइंडीज का प्रतिनिधित्व करने के मेरे सपने को साकार करने में मदद की है और मैं उनके प्रति अपनी गहरी कृतज्ञता व्यक्त करता हूं।”

नरेन 2011 में त्रिनिदाद एंड टोबैगो के लिए अब समाप्त हो चुकी चैंपियंस लीग टी20 में सुर्खियों में आए थे और उसी साल दिसंबर में एकदिवसीय मैचों के साथ उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था। मिस्ट्री स्पिनर कहे जाने वाले नरेन ने 122 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले, जिसमें छह टेस्ट, 65 वनडे और 51 टी20 इंटरनेशनल मैच शामिल हैं। उन्होंने 2012 में वेस्टइंडीज को अपना पहला टी20 विश्व कप खिताब दिलाने में मदद की।

2012 से वे आईपीएल में खेल रहे हैं और लगातार कोलकाता नाइट राइडर्स टीम का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने दुनिया की तमाम टी20 और टी10 लीग्स में हिस्सा लिया है और टी20 सर्किट का एक बड़ा चेहरा वे बन चुके हैं। हालांकि, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वेस्टइंडीज ने उनको एक तरह से दरकिनार कर दिया। इसके अलावा वे कुछ समय तक टीम के लिए उपलब्ध नहीं थे और चोटों का भी सामना उन्होंने अपने करियर में किया।

विज्ञापन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button