अपराधछत्तीसगढ़राजनीति
Trending

Attacks on Brijmohan Agrawal: बृजमोहन अग्रवाल का बड़ा आरोप, बोले- मेरी हत्या कराना चाहते हैं कुछ लोग, मदरसे में गया तो बच गया

जानकारी के अनुसार, बृजमोहन अग्रवाल समर्थकों के साथ कोतवाली थाना पहुंचे हुए हैं और वहां भाजपा कार्यकर्ता कोतवाली थाने में नारेबाजी कर प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि इस बात की जानकारी सामने नहीं आई है कि किस वजह से झूमाझटकी हुई है l

Advertisement
WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

रायपुर: (Attacks on Brijmohan Agrawal) छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण की मतदान 17 नवंबर को होना है। इसके लिए सभी प्रत्याशियों का अपने अपने क्षेत्रों में तेजी से धुंआधार प्रचार प्रसार जारी है। इसी बीच दक्षिण के बीजेपी प्रत्याशी बृजमोहन अग्रवाल पर हमला और उनके सा​थ झूमाझटकी की खबर सामने आ रही है। जानकारी के अनुसार, बृजमोहन अग्रवाल समर्थकों के साथ कोतवाली थाना पहुंचे हुए हैं और वहां भाजपा कार्यकर्ता कोतवाली थाने में नारेबाजी कर प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि इस बात की जानकारी सामने नहीं आई है कि किस वजह से झूमाझटकी हुई है।बता दें कि रायपुर दक्षिण में कुछ देर बाद सीएम भूपेश बघेल की सभा होने वाली है।

छत्तीसगढ़ भाजपा के वरिष्ठ नेता और रायपुर दक्षिण से विधायक बृजमोहन अग्रवाल के ऊपर गुरुवार देर शाम हमला कर दिया गया। इस दौरान उनका कॉलर पकड़कर घसीटा और मारपीट की। बृजमोहन अग्रवाल प्रचार के लिए बैजनाथ पारा पहुंचे थे। अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि कुछ लोग उनकी हत्या करवाना चाहते थे। इसकी जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में उनके समर्थक कोतवाली थाने पहुंचे हैं और घेराव कर दिया है। वे कांग्रेस सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। कोतवाली में इस समय करीब डेढ़ से दो हजार लोग जमा हैं। विधायक अग्रवाल ने कहा कि जब तक हमलावरों की गिरफ्तारी नहीं होगी, यहीं कोतवाली में बैठकर प्रदर्शन करते रहेंगे।

समर्थकों आरोप है कि बृजमोहन अग्रवाल प्रचार के लिए बैजनाथ पारा पहुंचे थे। यहां के मौलाना अब्दुल रऊफ वार्ड में प्रचार के दौरान मदरसे के पास कुछ लोग बृजमोहन के पास आए। उन्होंने कहा कि इस वार्ड में घुसने की हिम्मत कैसे हुई और उन्हें धक्का दे दिया। इस बीच जब तक उनके समर्थक आते, तब तक वे बृजमोहन अग्रवाल से मारपीट कर भाग चुके थे।

उन्होंने बताया कि मेरी कॉलर पकड़ी और मुझे पकड़ कर घसीटा। मेरे पीएसओ ने बचाया और मदरसे में ले गए। वहां पहुंचा तो बच गया। उन्होंने कहा कि, वे अक्सर मौलवी साहब से मिलने के लिए मदरसे में जाते रहते हैं। वहां भी कुछ लोग घुसे हुए थे। अग्रवाल कहा कि, इनका हमला मेरी हत्या करने का था। ये लोग संरक्षण में गुंडागर्दी करने की कोशिश कर रहे हैं। ये लोग हमारे कार्यकर्ताओं को धमकी दे रहे हैं। सरकारी बंगले में बैठकर राजनीति कर रहे हैं। ये साजिश का परिणाम है। मैं इतने लोगों के साथ था तो बच गया, कोई आम आदमी होता तो उसकी हत्या कर देते।

बृजमोहन अग्रवाल ने बताया कि, जनसंपर्क अभियान के लिए स्वामी विवेकानंद वार्ड और बैजनाथ पारा वार्ड में निकले थे। जैसे ही ब्रिस्टल चौक पर पहुंचे, कुछ सफेद कपड़े पहने लोगों ने हमला करने की कोशिश की। पीएसओ तुरंत मुझे पकड़ कर ले गए। इस दौरान मेरे कार्यकर्ताओं के साथ झूमा झटकी हुई। ये लोग कांग्रेस सरकार और पुलिस के संरक्षण में गुंडागर्दी कर रहे हैं। इन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया तब तक यहीं बैठेंगे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button