छत्तीसगढ़राजनीति
Trending

CM Bhupesh Baghel: बिलासपुर जिले के तेंदुवा (कोटा) में आयोजित आमसभा में सीएम भूपेश बघेल ने साधा पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह और भाजपा पर निशाना

भूपेश बघेल-रमन राज में देश के सबसे ज्यादा गरीब छत्तीसगढ़ से थे

Advertisement
WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

(CM Bhupesh Bhaghel) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोटा के तेंदुवा में आयोजित आमसभा में पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि साल 2018 में आरबीआई के रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ के 40 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा से नीचे थे मतलब देशभर में सबसे ज्यादा गरीब छत्तीसगढ़ में थे। सबसे ज्यादा कुपोषित छत्तीसगढ़ में, सबसे ज्यादा एनीमिया पीड़ित, सबसे ज्यादा मलेरिया पीड़ित छत्तीसगढ़ में थे।

मुख्यमंत्री ने कहा भाजपा और पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह ने अपने 15 साल के कार्यकाल के दौरान हर वर्ग को ठगने का काम किया। महिलाओं, युवाओं, किसानों और आदिवासियों समेत हर वर्ग को ठगा। उन्होंने कहा कि इस बार के चुनाव में डॉ रमन सिंह चुनाव हार रहे है, जनता ने उन्हें हराने के लिए वोट किया है। राजनांदगांव की जनता ने उनका बोरिया-बिस्तर बांध दिया है। 

जो 2100 नहीं दे पाये वो 3100 क्या दे पाएंगे : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा के मोदी के गारंटी में 3100 रुपये में धान खरीदी की घोषणा पर कटाक्ष किया। उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि साल 2013 में भाजपा ने 2100 रुपये समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का वादा किया था लेकिन अपने वादे से वो मुकर गए, जो 2100 रुपये नहीं दे पाये वो 3100 रुपये क्या दे पाएंगे। 

हमने ओल्ड पेंशन लागू की : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने भाषण में कहा कि हमने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं, कोटवारों,पुलिसकर्मियों के मानदेय और वेतन भत्तों में बढ़ोत्तरी की है। हमने सरकारी कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन लागू की है। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा गलती से भी सरकार में आती है तो ओल्ड पेंशन बंद कर देगी।

भाजपा राज में हुई जमकर कमीशनखोरी : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आमसभा में उमड़े जनसैलाब को संबोधित करते हुए भाजपा को कमीशनखोरी के मुद्दे पर घेरा। उन्होंने कहा कि भाजपा राज में राशन घोटाला, धान घोटाला समेत कई घोटाले किए। भाजपा ने तेंदूपत्ता संग्राहकों को दी जाने वाली चरण पादुका में कमीशनखोरी की। उन्होंने कहा कि पैसा आपका लेकिन कमीशन डॉ रमन सिंह ने खाया।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button