बिहारराजनीति
Trending

Bihar : विपक्ष में मची है खलबली, अमित शाह जब मुजफ्फरपुर से बोलेंगे तब चल जाएगा पता…गिरिराज सिंह का जोरदार हमला

विपक्ष के नेता अमित शाह के दौरे को लेकर निशाना

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

मुजफ्फरपुर: भारत के गृह मंत्री अमित शाह अपनी सभा को संबोधित करने के लिए बिहार में मुजफ्फरपुर के पताही एयरपोर्ट पर पहुंच चुके हैं। पिछले दो महीनों में अमित शाह का बिहार में यह दूसरा दौरा है। राजनीतिक रूप से इस दौरे को काफी अहम माना जा रहा है। वहीं, विपक्ष भी गृह मंत्री के इस दौरे को लेकर जमकर निशाना साध रहा है। 

इस बीच, भाजपा के दिग्गज नेता व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी विपक्ष पर पलटवार किया है। मीडिया से बात करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि अमित शाह का कार्यक्रम बिहार में हो रहा है और विपक्ष में इसको लेकर खलबली मची है।

गिरिराज सिंह ने आगे कहा कि कांग्रेस ने हमास को समर्थन दिया है। जो लोग कांग्रेस और I.N.D.I.A गठबंधन को वोट देंगे, इससे यह समझा जाएगा कि वह उन लोगों का साथ दे रहे हैं, जो हमास द्वारा आतंकवादी कृत्यों का समर्थन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जब अमित शाह मुजफ्फरपुर से गरजेंगे, तब विपक्ष को पता चल जाएगा कि बिहार के लोग क्या चाहते हैं। इसके अलावा, गिरिराज सिंह ने यह भी कहा कि अमित शाह की तुलना सरदार पटेल से की जानी चाहिए।

फिर से जुमलेबाजी कर चले जाएंगे अमित शाह : रमेश गुप्ता

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर के राजद जिलाध्यक्ष रमेश गुप्ता, विधायक निरंजन राय एवं प्रधान महासचिव सुधीर यादव ने शनिवार को संयुक्त बयान जारी कर कहा कि एक बार फिर गृहमंत्री अमित शाह मुजफ्फरपुर आकर जुमलेबाजी करेंगे। वह सपना बेचने की राजनीति और मिथ्या प्रचार करने आ रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी यहां आकर वादा किया था। 2019 की चुनावी रैली में वोट के बदले मुजफ्फरपुर से हवाई सेवा जल्द शुरू करने का वादा किया था। अब 2023 में गृहमंत्री की रैली उसी एयरपोर्ट के मैदान में है जहां ट्रैक्टर से जुताई चल रही है।

वर्ष 2014 में मोतिहारी की चुनावी सभा में कहा था कि मोतिहारी की बंद चीनी मिल को शुरू कराकर अगली बार मोतिहारी आगमन पर उसमें बनी चीनी की ही चाय पिएंगे। प्रधानमंत्री जी छह वर्ष बाद मोतिहारी आए, लेकिन उस बंद चीनी मिल एवं चाय के बारे में कुछ नहीं बोले।

आज देश में भाजपा तलवार बांटने में लगी है और हमारे नेता उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कलम बांट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बिहार लोकतंत्र की जननी है और यहीं से ही देश की राजनीति में बदलाव हुआ है। अमित शाह चाहे हजार बार भी बिहार आ जाएं आइएनडीआइए गठबंधन को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

विज्ञापन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button