छत्तीसगढ़राजनीति
Trending

कोरबा : चुनाव लड़ने पर यूनियन ने अपने अध्यक्ष को किया निष्कासित, कहा : समर्थन माकपा को, सपूरन डमी प्रत्याशी

विज्ञापन
WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

कोरबा : कोरबा जिले की कटघोरा विधानसभा सीट पर दिलचस्प स्थिति बनती जा रही है। यहां चुनाव लड़ने पर एक यूनियन ने अपने जिला अध्यक्ष को ही निष्कासित कर दिया है और अपना समर्थन माकपा को देते हुए आम जनता से जवाहर सिंह कंवर को विजयी बनाने की अपील की है। यह यूनियन है राजमिस्त्री मजदूर रेजा कुली एकता यूनियन।

विज्ञापन

एक्टू के साथ मिलकर इस यूनियन ने माकपा के समर्थन में एक पर्चा और विज्ञप्ति भी जारी की है, जिसमें ऐक्टू के बीएल नेताम एवं राजमिस्त्री मजदूर रेजा कुली एकता यूनियन के राज्य कार्यकारी अध्यक्ष सुखरंजन नंदी ने कहा है कि धर्मनिरपेक्षता और लोकतांत्रिक मूल्यों पर ही हमला करने वाली भाजपा आज सबसे बड़ी चुनौती है। भाजपा जैसी घोर सांप्रदायिक, तानाशाही और पूंजीपतिपरस्त पार्टी का मुकाबला वामपंथी पार्टियां ही कर रही है। इसलिए वामपंथी पार्टियों को राजनैतिक पार्टी के रूप में उभारने और कटघोरा विधानसभा में माकपा को विजयी बनाने की जरूरत है।

उल्लेखनीय है कि भ्रष्टाचार के आरोप में माकपा से निष्कासित सपूरन कुलदीप इस चुनाव में जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी है और पिछले चुनाव में इस पार्टी को मिले मतों को पाने की आशा रखते हैं। कुछ माह पूर्व ही उन्हें भ्रष्टाचार के आरोप में ऊर्जाधानी भूविस्थापित किसान कल्याण संघ से भी निष्कासित किया जा चुका है। वे इस संगठन के अध्यक्ष थे।

यूनियन के राज्य कार्यकारी अध्यक्ष सुखरंजन नंदी ने मीडिया को जानकारी दी है कि भाजपा को हराने और वामपंथी दलों को समर्थन देने का फैसला यूनियन ने सोच समझकर लिया था, जिसमें सपूरन कुलदीप भी शामिल थे। चूंकि उन्होंने यूनियन के इस फैसले और अनुशासन का उल्लंघन किया है और मजदूर वर्ग के राजनैतिक हितों को नुकसान पहुंचाया है, इसलिए उन्हें यूनियन से निष्कासित कर दिया गया है।

यूनियन नेता ने कहा कि दरअसल सपूरन कुलदीप कांग्रेस और भाजपा के डमी प्रत्याशी है और माकपा को कमजोर करने के लिए ये दोनों पार्टियां उन्हें फाइनेंस कर रही है। कटघोरा विधानसभा क्षेत्र में माकपा ही एकमात्र पार्टी है, जो आम जनता और भूविस्थापितों की जायज मांगों पर ईमानदारी से संघर्ष कर रही है और राजमिस्त्री मजदूर रेजा कुली एकता यूनियन सहित तमाम वामपंथी ट्रेड यूनियनें माकपा और जवाहर सिंह कंवर के समर्थन में सक्रिय रूप से काम कर रही है।

उनके द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति इस प्रकार है :

कोरबा जिले के मजदूर संगठन वामपंथी पार्टियों के समर्थन में प्रचार में उतरे

कोरबा // ऐक्टू से संबद्ध बालको सहित जिले के यूनियन अल्युमिनियम कामगार संघ, आईसीडीएस वर्कर्स यूनियन, सफ़ाई कामगार यूनियन तथा राजमिस्त्री मजदूर रेजा कुली एकता यूनियन ने जिला के कोरबा विधान सभा और कटघोरा विधानसभा से वामपंथी पार्टियों के प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार पर उतर गए हैं। आज एक जारी संयुक्त बयान में ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ़ ट्रेड यूनियंस (ऐक्टू) के छत्तीसगढ़ कार्यवाहक अध्यक्ष बीएल नेताम एवं राजमिस्त्री मजदूर रेजा कुली एकता यूनियन के राज्य कार्यकारी अध्यक्ष सुख रंजन नंदी ने उक्त जानकारी दी।

श्रमिक नेताओं ने कहा है कि आज देश व मजदूरों के सामने भाजपा जैसे एक घोर सांप्रदायिक, तानाशाही पार्टी सबसे बडी चुनौती बनी हुई है। जो देश की धर्मनिरपेक्षता, लोकतांत्रिक मूल्यों पर ही हमला कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा देश की सभी सार्वजनिक उद्यमो को निजी हाथों में सौंपकर देश की आर्थिक संप्रभुता को ही खत्म कर देना चाहती है। सिर्फ इतना ही नही यह पार्टी मजदूरों के सभी कानूनी अधिकारों को छीन लेने पर आमादा है और मजदूरों को मालिकों के गुलाम बना देना चाहती है।

भाजपा की इन नीतियों के खिलाफ वामपंथी पार्टियां ही आज संघर्षरत हैं। सांप्रदायिकता के खिलाफ वामपंथी पार्टियां पुरजोर विरोध करती आ रही हैं और भाजपा की निजीकरण की मुहिम और श्रम कानूनों को खत्म करने की प्रयास पर रोक लगाने में आंदोलनरत हैं। ऐसी स्थिति में वामपंथी पार्टियों को मतदान कर श्रमिक वर्ग को एक राजनैतिक शक्ति के रूप में सामने आने की दरकार है।

उन्होंने मीडिया को सूचित किया है कि यूनियन के फैसले का उल्लंघन करने के कारण सपूरन कुलदीप को राजमिस्त्री मजदूर रेजा कुली एकता यूनियन से निष्कासित कर दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button